दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते है की एंटिवाइरस क्या है ( Antivirus Kya Hai? ) और इसका क्या क्या फायदा है और इसे कंप्युटर मे क्यों उपयोग मे लिया जाता है तो आप इस आर्टिकल मे बने रहे मैं आपको अच्छा से अच्छा जानकारी शेयर करूंगा ।

एंटिवाइरस क्या है
एंटिवाइरस क्या है

दोस्तों आप याद कीजिए जब आप आज से 3 से 4 साल पहले मेमोरी कार्ड मे गाना डोनलोडिंग करवाने जाते थे तब वहाँ पर कंप्युटर मे आपका मेमोरी स्कैन कीया जाता था ताकि आपके मेमोरी कार्ड के माध्यम से कहीं कंप्युटर मे कोई वायरस न चल जाए ।

हमेशा याद रखना है की जब भी कंप्युटर का उपयोग करे तो एक एंटिवाइरस जरूर खरीदना चाहिए जो की आपको आगे बताऊँगा की कौन सा एंटिवाइरस सही है और उसका क्या क्या काम है, ताकि आपको चुनने मे आसानी हो की हमारे लिए कौन सा एंटिवाइरस बढ़िया है ।

एंटिवाइरस क्या है ( What Is Antivirus In Hindi )

एंटिवाइरस एक प्रकार का Application Software है जिसमे हम अपने कंप्युटर से किसी भी तरह के वायरस को हटा सकते है या फिर पता लगा सकते है की हमारे कंप्युटर मे वायरस है या नहीं, इसलिए इसका उयोग करना बहुत  जरूरी है आजकल ।

                                       दोस्तों आजकल सभी काम हम अनलाइन करना चाहते भी है और हो भी रहा है तो ऐसे मे हमे अपने सारा कागजात को अपने कंप्युटर मे सेव करके रखना पड़ता है और उसकी हमेशा जरूरत रहती है ।

अगर आप अपने कंप्युटर या फिर लैपटॉप मे इंटरनेट पर काम करते है या फिर इंटरनेट का उपयोग करते है तो आपको एक अच्छा सा एंटिवाइरस अपने कंप्युटर मे जरूर रखना चाहिए क्योंकि आजकल हैकर बहुत चालाक हो गए है वो लोगों पर अपना पंजा हमेशा मारना चाहते है ।

                                        ऐसे मे अच्छा है की आप अपने कंप्युटर मे एंटिवाइरस का उपयोग करे क्योंकि गलती से भी अगर आप कोई फाइल डाउनलोड करके रन कर दिए तो फिर आपका सारा के सारा डाटा अलग फॉर्मैट मे चेंज हो जाएगा और आपका डाटा Encrypt हो जाएगा ।

जिसको सिर्फ और सिर्फ हैकर ही खोल सकता है तो आपको इसको ध्यान मे रखना है की अगर आपको डाउनलोड भी करना है तो एक अच्छे और Trusted वेबसाईट से ही कुछ भी डाउनलोड करना है ।

                                     अब आप जान गए की antivirus Kya hota Hai, antivirus software program Kya Hai  और antivirus software Kya Hai अब आगे जानते है की एंटिवाइरस कैसे काम करता है ?

एंटिवाइरस कंप्युटर मे कैसे काम करता है ?

जैसा की मैंने पहले ही बताया की अगर आपके पास कोई दुकान है जिसमे लोग गाना Downloading करवाने आते है तो आपको उनके मोमोरी कार्ड को स्कैन करने मे एंटिवाइरस का उपयोग होता है ताकि आपके कंप्युटर मे वायरस न या पाए।

                                     दूसरा ये है की जब आप अपने कंप्युटर मे इंटरनेट का ऊपयोग करते है तब आपको कहीं Untrusted वेबसाईट से कुछ डाउनलोड करके इंस्टॉल करते है तब उसमे वायरस रहने का खतरा रहता है जिसको एंटिवाइरस के द्वारा पहचाना जा सकता है और हटाया जा सकता है ।

ये आपके डाउनलोड हुए .exe फाइल को स्कैन करता है और देखता है की कहीं किसी वायरस के फाइल तो इसमे नहीं है और अगर रहता है तो वो खुद हटा देता है जिससे लोगों को आसानी होती है, और उनका कंप्युटर 100% Secure रहता है ।

एंटिवाइरस को अपडेट करना क्यों जरूरी है ( Why Antivirus Update Is Important In Hindi )

आप देखे होंगे की जब आप एंटिवाइरस को अपने कंप्युटर मे डालते है या फिर इंस्टॉल करते है तब उसमे आपको हमेशा कुछ कुछ समय के बाद अपडेट आते रहता है जिसको आपको अपडेट करना पड़ता है जिसका कारण इस प्रकार है की –

                                      आजकल Digitally लोग ज्यादा बन रहे है और हैकर भी अपना काम से पीछे नहीं भागना चाहते है और वो हमेशा नए नए वायरस बनाने के फिराक मे रहते है वैसे मे अगर आपके पास एंटिवाइरस नए वायरस को नहीं पकड़ पाया तो आपका कंप्युटर तो हैक हो जाएगा तो आपके कंप्युटर मे एंटिवाइरस रहने का फायदा ही क्या होगा ।

इसलिए जब हैकर वायरस बनाते है तो एंटिवाइरस वाले कंपनी उसका दवाई बनाते है मतलब की वायरस के साथ साथ उसका खात्मा करने के लिए एंटिवाइरस भी बन जाते है जिसको अपडेट के माध्यम से आपके कंप्युटर मे भेजा जाता है जिसको आपको अपडेट करना जरूरी रहता है ।

                                      जब भी आपके कंप्युटर मे एंटिवाइरस का अपडेट आए तब आप सब काम छोड़ के उसको करे क्योंकि एंटिवाइरस के कंपनी इसीलिए बैठती है की आपको सुरक्षा प्रदान कर सके और आपका कंप्युटर को Safe और Secure रख सके ।

एंटिवाइरस के प्रकार ( Types Of Antivirus In Hindi )

एंटिवाइरस मुख्यतः पाँच प्रकार के होते है जिसको अलग अलग काम के लिए रखा गया है ।

  1. Signature Based Detection – इसमे आपके कंप्युटर मे डाउनलोड हुए exe फाइल को एंटिवाइरस स्कैन करता है और अपने कंप्युटर मे स्थित वायरस के रिकार्ड और उसके लक्षण से पहचानने का कोशिश करता है और जब उसमे उसका लक्षण मिल जाता है तब उसको डिलीट कर देता है।
  • Heuristic Based Detection ये एंटिवाइरस तब काम करता है जब आप अपने कंप्युटर मे कोई सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल करते है और ये उसके Files को चेक करता है और अपने Virtual Environment पर रन करके देखता है और जब कोई फाइल उसको लगता है की ये गलत Behave कर रहा है और सिस्टम को इन्फेक्ट कर सकता है तब उसपर एक्शन लेता है ।       

                                         आजकल जितना एंटिवाइरस या रहा है इसी Function के साथ आता है और ऐसे ही अपना काम करता है और आपके कंप्युटर को एकदम सैफ रखता है और सबसे खश बात की इसमे किसी नए वायरस के परिभाषा या फिर उसका Behave को बताने की कोई जरूरत नहीं होती है ये अपने आप से काम करता है ।

  • Behavioral Based Detection – ये आपके कंप्युटर मे इंस्टॉल सॉफ्टवेयर के व्यवहार देखता है और जब इसको लगता है की आपके Files को ये कुछ नुकसान करने की कोशिश कर रहा है तब ये आपके कंप्युटर से उस फाइल को हटा देता है और कुछ इस प्रकार ये अपना काम करता है ।
  • Sandbox Detection – ये आपके Heuristic Based Detection के जैसा ही काम करता है जो की ऐसा है की पहले आपको इसको अपने virtual Environment पर रन कीया जाता है उसके बाद अगर इसको लगता है की कोई फाइल इधर उधर करने की कोशिश कर रहा है तब उसको वहन से डिलीट कर दिया जाता है और आपको कंप्युटर मे उसको इंस्टॉल नहीं करने के सलाह दिया जाता है ।   
  • Data Mining Technique – इस एंटिवाइरस से किसी प्रोग्राम मे वायरस है की नहीं उसको पता लगाया जाता है और आपको कंप्युटर को सैफ रखा जाता है और एक जरूरी बात की ये आजकल का बहुत ही बढ़िया एंटिवाइरस है ।

                                             ऊपर बताए गए Topic मे आप जान गए की antivirus ke naam, antivirus name in hindi, और antivirus ke prakar ।  

Advantage Of Antivirus In Hindi ( एंटिवाइरस की विशेषताए )

कंप्युटर मे एंटिवाइरस रहने के बहुत सारे फायदे है जो की निम्नलिखित है ।

  1. सबसे पहला ये की जब भी आप अपने कंप्युटर मे इंटरनेट से कुछ डाउनलोड करके रखते है या फिर इंस्टॉल करते है तब उसमे आपको वायरस है की नहीं ये पता करता है और ऊपर से भी बतलाता है की आपको इंस्टॉल करना है की नहीं, मतलब की ये आपको सैफ रखता है ।
  2. ये आपके कंप्युटर मे सभी फाइल को फास्ट काम करने मे मदद करता है ।
  3. अगर आप इसका Use करते है और उसके बाद जब अनलाइन पैसे किसी को भेजते है या फिर लेते है तो आपको इसमे सैफ रखता है ।

कौन सा antivirus हमे खरीदना चाहिए ? / best antivirus Kya Hai

देखिए दोस्तों जब आप चाहते ही है की हम कोई बढ़िया एंटिवाइरस खरीद ले तो आपको नीचे बताया गया है उसमे से किसी एक को खरीद लीजिएगा क्योंकि ये सभी High Quality के है और ऊपर से Trusted है तो आपको किसी भी प्रकार के दिक्कत नहीं होगी ।

  1. Quick Heal Total Security
  2. AVG Antivirus
  3. Norton Security
  4. Kaspersky Full Protection
  5. Avira Antivirus

                                           ये ऊपर का सभी लिस्ट उनके लिए है जो आप इन्वेस्ट करना चाहते है और जो फ्री मे use करना चाहते है उनके लिए बस मैं एक ही Recommend करूंगा जो की Windows Defender

दोस्तों जब आपके कंप्युटर मे विंडोज़ 10 का Operating System हो तो ये फ्री मे Available है जिसको आपको सिर्फ और सिर्फ Enable करना हैं उसके बाद ये खुद ही बढ़िया से काम करेगा और आपका एंटिवाइरस का पूरा Version का लाभ देगा ।

                                               दूसरा बात दोस्तों की ये हमेशा अपडेट रहता है क्योंकि जब भी मैं अपने सिस्टम अपडेट के बारे मे जानने गया हूँ तब अपडेट आता है जो की एकदम सही हैं क्योंकि जब आप एक अच्छे एंटिवाइरस का उपयोग करना चाहेंगे तो आपको हमेशा अपडेट ही रखना पड़ेगा ।

मेरा आज 3 साल का लैपटॉप है दोस्तों और आज तक मैंने इसी का उपयोग किया है और करते ही रहूँगा क्योंकि ये सबसे बढ़ीया एंटिवाइरस है जिसके मदद से मेरा कंप्युटर एकदम सैफ रहता है और एक बार ऐसा हुआ था की मैं वायरस वाला सॉफ्टवेयर डाउनलोड करके इंस्टॉल कर लिया था लेकिन वो बता दिया था की आपके कंप्युटर मे वायरस आ गया है ।

                                              तबसे मेरा भरोसा बस यही है और मैं सभी को इसी का उप्योंग करने का सुझाओ देता हूँ ताकि आपका पैसा भी बच जाये और आपका काम भी हो जाए ।

लोगों के द्वारा पूछा जाने वाला सवाल

Does Antivirus Software Make a System Slower? / Why Did My Laptop Become Slow After an Antivirus Software Installation ?

Ans –  हाँजी क्योंकि जब आपके कंप्युटर मे फ्री का एंटिवाइरस रहेगा तो उसको मालूम नहीं रहेगा की आपका कंप्युटर को कब स्कैन करना है और कब नहीं तो वो फिर आपके कंप्युटर को हर बार स्कैन करते रहेगा जिसके कारण आपके कंप्युटर को स्लो कर देता है, इसलिए जब भी आप कंप्युटर मे एंटिवाइरस का उपयोग करे तब आप उसमे Paid Version या फिर Windows Defender का उपयोग करे ।

Also Read

Computer Me Hindi Me Kaise Likhe? – 2021 हिन्दीमेमास्टर

What Is Blue Screen Of Death In Hindi? | Solution

कंप्युटर की स्पीड बढ़ाने के टिप्स 2021 – HindiMeMaster

लैपटॉप कंप्युटर के ड्राइवर्स कैसे अपडेट करे 2021 – HindiMeMaster

कंप्युटरशिक्षा

लैपटॉप खरीदने से पहले इन बातों का जानकारी लें लें ।

Conclusions

दोस्तों आशा करता हूँ की आपको आज एंटिवाइरस से जुड़ी सभी जानकारी का पता चल गया  होगा और आप अपने कंप्युटर मे कौन सा एंटिवाइरस इंस्टॉल करने वाले है या फिर उपयोग करते है जरूर नीचे कमेन्ट सेक्शन मे बताइएगा ताकि हमे पता चल सके की आपका कैसा Experience रहा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *