Web Hosting Kya Hai? – अगर आप भी अपना एक वेबसाईट बनाना चाहते है तो उसमे आपको सबसे ज्यादा जरूरत वेब होस्टिंग की होती है जिसके बारे मे आज हम इस आर्टिकल मे जानने वाले है।

Web Hosting Kya Hai?
Web Hosting Kya Hai?

जिससे आप ये पता लगा सकते है की आप जो अपना वेबसाईट बनाने वाले है उसके लिए कौन सा होस्टिंग बढ़िया होगा और उसको कहाँ से खरीद सकते है ? तो चलिए जानते है की Web Hosting Meaning In Hindi.

वेब होस्टिंग क्या है ? – Web Hosting Meaning In Hindi

Web Hosting Kya Hai
Web Hosting Kya Hai?

वेब होस्टिंग का मतलब होता है की आप अपने वेबसाईट मे जो जो फाइल का उपयोग करते है उसको एक जगह पर स्टोर करना जैसे की आप अपने वेबसाईट मे इमेज, टेक्स्ट और विडिओ का उपयोग करते है तो वो कहीं न कहीं स्टोर होना चाहिए तभी वो लोगों तक पहुच सकता है ।

तो होस्टिंग आपका वेबसाईट मे उपयोग हुए सभी फाइल को स्टोर करके रखता है सर्वर मे और जब आपका यूजर आपके डोमेन नाम से या फिर किसी तरह से आपके वेबसाईट पर आते है तो उनको आपका वेबसाईट शो करता है ।

वेब होस्टिंग आपके जैसे हजारों और लाखों वेबसाईट के इंटरनेट मे एक जगह देता है जिसमे की आपका अपना सारा फाइल को एक स्पेशल कंप्युटर मे स्टोर करके रखता है और जब भी आपका वेबसाईट कोई एक्सेस करना चाहता है तो उसको वो सारा फाइल को प्रवाइड करने का काम करता है ।

और आपको जान के हैरानी होगी की जिस कंप्युटर मे हमारा डाटा स्टोर रहता है वो हरदम ऑन ही रहता है ताकि हमारे ऑडियंस हमारे वेबसाईट को हर समय एक्सेस कर सके। और इसके लिए हमलोग को पैसा देना होता है क्योंकी हम सभी जानते है की किसी भी चीज का उपयोग करने के लिए पैसा देना पड़ता है ।

वेब होस्टिंग कैसे काम करती है ?

Web Hosting Kya Hai
Web Hosting Kya Hai?

जब भी आपके ऑडियंस इंटरनेट खोलकर आपके वेबसाईट तक पहुचना चाहते है चाहे वो डायरेक्ट हो या फिर ऑर्गैनिक तो उनको आपके वेबसाईट मे स्टोर सभी डाटा को दिखाना होता है ।

जैसे की आप अभी या तो डायरेक्ट आए है हमारे वेबसाईट मे हमारा डोमेन नाम डालकर या फिर आप गूगल मे सर्च करके आए है की Hosting Meaning In Hindi. तो जब आप हमारे वेबसाईट पर आए तो आपको हमारा वेबसाईट दिख रहा है और साथ मे कंटेन्ट भी दिख रहा है की मैंने क्या क्या बताया है आपको वेब होस्टिंग क्या है के बारे मे।

तो जब आप आए तो हमारा जो वेब होस्टिंग है वो हमारे सारे फाइल को कम्बाइन करके आपके मोबाईल पर या लैपटॉप पर भेज दिया वो भी इंटरनेट के द्वारा तो वेब होस्टिंग ऐसे ही काम करती है ।

Web Hosting Types In Hindi – वेब होस्टिंग के प्रकार

Web Hosting Kya Hai
Web Hosting Kya Hai?

ऐसे तो आपको ढेर सारे वेब होस्टिंग के प्रकार मिल जाएंगे जो की होस्टिंग कंपनी पर Depend करता है की उसका क्या क्या नाम देते है लेकिन ऐसे हमलोग आज मुख्यत चार वेब होतींग के बारे मे जानेंगे जिसका उपयोग हर कोई करता है ।

Shared Hosting

Shared Hosting के नाम से ही सबको पता चल जाता है की वैसा होस्टिंग जिसमे एक रिसोर्स के कई सारे यूजर होते है उसको Shared होस्टिंग कहते है । जैसे की मान लीजिए की आपके घर मे एक बाइक है तो कभी आप उसको चलाते होंगे या फिर कभी पापा चलाते होंगे या फिर कभी भाई चलाते होंगे ।

तो बिल्कुल उसी तरह एक सर्वर होता है जिसमे आपका ढेर सारा वेबसाईट होस्ट रहता है इसको shared hosting के नाम से जाना जाता है। इसमे फायदा ये है की आपका होस्टिंग कम पैसे मे आ जाएगा । और नुकसान ये है की आपको इसमे साइट का स्पीड थोड़ा कम देखने को मिलेगा ।

जब आपका वेबसाईट मे ट्राफिक ज्यादा आने लगेगा तो आपका वेबसाईट और भी लोड लेट से होने लगेगा । क्योंकी सर्वर मे एक रैम और एक प्रोसेसर लगा हुआ है तो उसको आपके वेबसाईट के साथ साथ और भी वेबसाईट को देखना होता है ।

शेयर्ड होस्टिंग किसके लिए बेहतर है ?

शेयर्ड होस्टिंग उनके लिए बढ़िया है जो अभी अभी वेबसाईट बनाए है और अभी ज्यादा ट्राफिक नहीं आ रहा है तो आप शेयर्ड होस्टिंग ले सकते है । जिसमे आपको कम पैसे मे होस्टिंग मिल जाएगा और आप इसका उपयोग सीखने के लिए भी कर सकते है।

Dedicated Hosting

ये भी आपको नाम से ही पता चल रहा है की आपका पूरा सर्वर पर सिर्फ और सिर्फ आपका ही हक होगा जिसमे आप अच्छा खासा स्पीड मिल जाएगा और आपका वेबसाईट सेकंड मे खुल जाएगा। लेकिन इसमे आपको पैसा बहुत ज्यादा लगेगा जो की जाहीर सी बात है क्योंकी अगर आप किसी चीज का अकेले उपयोग कर रहे है तो उसका पैसा तो ज्यादा लगेगा ही ।

आप flipkartAmazon ये सब के साइट के बारे मे जानते होंगे तो वो सभी के सभी dedicated hosting पर ही अपना वेबसाईट को स्टोर करके रखे हुए रहते है और उनके वेबसाईट पर ट्राफिक भी उतना ही आता है ।

Dedicated Hosting किसके लिए बेहतर है ?

अगर आपका ई कॉमर्स का वेबसाईट है या फिर organization का वेबसाईट है जिसमे आपको बहुत ट्राफिक आता है तो उसके लिए ये बढ़िया है। और जिसके वेबसाईट पर ट्राफिक ज्यादा आए तो जरूरी है की उनको ये होस्टिंग का उपयोग करना ताकि ऑडियंस को किसी तरह के कोई दिक्कत न हो।

VPS Hosting

VPS का फूलफोरम Virtual Private Server होता है जो की शेयर्ड और dedicated होस्टिंग के बीच मे होता है जिसमे आपको होस्टिंग मिलेगा लेकिन वो वर्चुअल रहेगा न की फिज़िकल रहेगा । मतलब की आप सिर्फ उसका उपयोग कर सकते है न की उसमे कोई सॉफ्टवेयर ये सब इंस्टॉल करने का ऑप्शन मिलता है ।

ये शेयर्ड होस्टिंग से इसलिए बढ़िया है क्योंकी इसमे आपको स्पीड ज्यादा देखने को मिलेगा और इसमे एक सर्वर का सिर्फ और सिर्फ आप ही मालिक रहेंगे । और Dedicated Hosting से इसलिए पीछे रहेगा क्योंकि इसमे आपको फिज़िकल सर्वर नहीं मिल रहा है जिसमे आप सॉफ्टवेयर ये सब इंस्टॉल कर सको ।

VPS Hosting किसके लिए बेहतर है ?

विपिएस होस्टिंग उसके लिए बेहतर है जो अभी शेयर्ड होस्टिंग का उपयोग कर रहा था और अब उसके वेबसाईट पर ट्राफिक आने लगा है तो उसके लिए ये बेहतर है और इसमे आपको शेयर्ड होस्टिंग से कुछ ही ज्यादा पैसा लगता है तो ओनर आसानी से अफोर्ड कर सकता है।

Cloud Hosting

क्लाउड होस्टिंग एक ऐसा होस्टिंग है जिसमे आप अगर अपना वेबसाईट होस्ट कीये है तो आपके वेबसाईट के लिए यहाँ पर बहुत सारे सर्वर काम करते है जिससे की आपका स्पीड बढ़ जाता है और ये आपके वेबसाईट को सिक्युर भी रखते है ।

जहां पर बहुत सारे सर्वर एक वेबसाईट के लिए काम करते है तो उसी को क्लाउड होस्टिंग कहते है। इसमे आपको कितना भी ट्राफिक आ जाए तो ये हैन्डल कर लेता है और इसी वजह से इसका कोस्ट सबसे ज्यादा होता है ।

Cloud Hosting किसके लिए बेहतर है ?

क्लाउड होस्टिंग उसके लिए अच्छा होता है जिसके वेबसाईट पर ज्यादा ट्राफिक आता है और उसको अपना वेबसाईट को सिक्युर रखना है तो वो ये होस्टिंग का उपयोग करता है।

होस्टिंग लेने से पहले किन बातों को ध्यान मे रखना चाहिए ?

Storage

स्टॉरिज कहने का मतलब ये है की आप अपने वेबसाईट मे कितना स्टॉरिज का फाइल स्टोर कर सकते है जैसे की 10 जीबी, 20 जीबी इत्यादि और हार्ड डिस्क दे रहा है की SSD Drive तो अगर आपको SSD ड्राइव दे रहा है इसका मतलब ये है की आपका वेबसाईट का स्पीड बहुत ज्यादा रहेगा ।

और अगर वही हार्ड डिस्क दे रहा है तो उसमे आपका स्पीड स्लो रहेगा तो आपको कोशिश ये करना है की हमेशा SSD Drive वाला ही वेब होस्टिंग खरीदे ताकि आपका वेबसाईट जल्दी से लोड हो जाए क्योंकी ये आपको SEO मे काफी ज्यादा मदद करता है ।

Bandwidth

इसका मतलब ये है की एक समय मे कितना स्टॉरिज तक आपका यूजर आपका डाटा को ले सकता है। मतलब की अगर आप ऐसा होस्टिंग लेटे है की 10 जीबी देता है बैन्ड्विड्थ तो इसका मतलब ये है की एक समय मे 10 जीबी तक डाटा को एक्सेस कीया जा सकता है।

लेकिन ऐसे बहुत सारे वेब होस्टिंग कंपनी है जो की आपको अनलिमिटेड बैन्ड्विड्थ देते है जिससे की आपका यूजर सैटिस्फाइड रहे ।

Uptime

इसका मतलब ये है की जब आप चीप होस्टिंग खरीदते है तो उसमे देखते होंगे की आपका वेबसाईट खुल ही नहीं रहा है तो वो Uptime के चलते होता है क्योंकी Uptime मतलब की आपका वेबसाईट कब तक लाइव रह सकता है।

ऐसे बहुत सारे होस्टिंग प्रवाइडर है जो आपको 99.99% अपटाइम का गारंटी देते है जिसका मतलब ये है की आपका वेबसाईट हमेशा लाइव रहेगा और किसी तरह के कोई टेक्निकल इशू नहीं आएगा ।

SSL

SSL का फूलफोरम सिक्युर साकिट लैअर होता है जिसका मतलब ये है की आपका वेबसाईट को ये सिक्युर रखने मे मदद करता है। जैसे की अगर आपका वेबसाईट को किसी ने हैक करना चाहा तो इस चीज के चलते वो हैक नहीं कर सकता है।

जैसे की आप किसी वेबसाईट को खोलते है तो उसमे देखते होंगे की आपको लिंक के साथ ताला लगा हुआ रहता है जिसका मतलब ये है की वो सिक्युर वेबसाईट है और अगर वही ताला खुला हुआ रहे तो मतलब ये है की वो वेबसाईट सिक्युर नहीं है ।

बहुत सारे होस्टिंग प्रवाइडर आपको फ्री मे ssl certificate देते है जिससे की आपका पैसा बच जाता है क्योंकी अगर आप सिर्फ SSL सर्टिफिकेट लेने जाए तो आपको ढेर सारा पैसा लग जाता है इसमे ।

Email

इसका मतलब ये है की आप अपना डोमेन नेम के साथ एक अच्छा खासा ईमेल बना सकते है जो की यूनीक और अट्रैक्टिव लगे जिसको हमलोग बिजनस ईमेल भी कहते है जो की [email protected] के नाम जैसा रहता है।

तो ऐसे बहुत सारे होस्टिंग प्रवाइडर है जो आपको 5 या 10 ईमेल बनाने का ऑफर देते है और ऐसे भी प्रवाइडर है जो आपको अनलिमिटेड ईमेल बनाने का फायदा देते है। ऐसे अगर आप बिजनस ईमेल आईडी बनाने जाए तो आपको पैसा देना पड़ता है ।

Customer Support

अब ऐसा होस्टिंग प्रवाइडर से होस्टिंग लेकर क्या फायदा जब आपको किसी चीज मे दिक्कत आ रही हो और वो आपका हेल्प न करे, तो आपको ऐसे होस्टिंग कंपनी को सिलेक्ट करना है जिसमे आपको हरदम 24*7 का सपोर्ट मिले।

जिससे की आपका किसी भी तरह का कोई डाउट रहे तो आप बेझिझक पूछ सके और आप अपना जो भी सवाल रहे उसका जवाब जल्दी से पा सके ।

Backup

अब मान लीजिए की आपका अभी वेबसाईट लाइव है और एकदम से आपने कुछ कीया या फिर किसी तरह के कोई दिक्कत हुई तो आपका वेबसाईट ही उड गया तो फिर आपको दिक्कत हो जाएगी न ?

तो ऐसे मे आपको वैसे होस्टिंग प्रवाइडर से होस्टिंग लेनी है जो की आपको ऑटोमैटिक बैकअप लेने का ऑफर करे। और ऐसे बहुत सारे आपको प्रवाइडर मिल भी जाएंगे ।

Free Web Hosting और Paid Web Hosting मे क्या अंतर है?

फ्री वेब होस्टिंग पैड वेब होस्टिंग
इसमे आपका वेबसाईट हमेशा क्रैश करेगा । इसमे आपका वेबसाईट हमेशा लाइव और बढ़िया रहेगा ।
इसमे आपका वेबसाईट हैक हो सकता है । इसमे आपका वेबसाईट कभी हैक नहीं हो सकता है ।
इसमे आपको SSL Certificate नहीं मिलता है । इसमे आपको SSL Certificate मिलता है ।
आपका वेबसाईट का स्पीड बढ़िया नहीं रहेगा । इसमे आपका वेबसाईट का speed एकदम बढ़िया रहेगा ।
आपका वेबसाईट जल्दी रैंक नहीं करेगा । आपका वेबसाईट रैंक करेगा ।

वेबसाईट बनाने के लिए जरूरी चीज़े कौन कौन सी है ?

डोमेन

अगर आप अपना बिजनस या फिर वेबसाईट बनाना चाहते है तो अपने बिजनस या फिर आपका वेबसाईट के नाम के अनुसार एक डोमेन खरीद ले ताकि वो आपका इंटरनेट मे पहचान दे सके ।

होस्टिंग

और ये आपके बिजनस के वेबसाईट या फिर ऐसे भी वेबसाईट के स्टोर करने के लिए जरूरी चीज है क्योंकी इसके बिना आपका वेबसाईट नहीं बन सकता है।

Web Hosting और Domain मे क्या अंतर है ?

ये दोनों अलग अलग चीज है लेकिन अगर आपको एक वेबसाईट बनाना हो तो ये दोनों ही जरूरी है आपके लिए ।

डोमेन

  • डोमेन आपका वेबसाईट का एक अड्रेस होता है जिसको इंटरनेट के दुनिया मे अलग ही पहचान मिलता है और ये कभी एक अड्रेस से दो डोमेन नहीं हो सकता है ।
  • आपका डोमेन नेम के चलते ही आपका एक अलग पहचान मिलता है ।

होस्टिंग

  • ये आपका वेबसाईट के स्टोर करके रखने वाला जगह है जिसको आप अपना घर कह सकते है जिसमे आपका सारा समान रहता है।
  • इसमे आपका डोमेन कनेक्ट होता है और उसके बाद आपका वेबसाईट बनता है और फिर एक लोकैशन मे आपका सारा डाटा को स्टोर करके होस्टिंग मे रखा जाता है ।

Also Read

Keyword Kya Hota Hai | Types Of Keywords In Hindi

ब्लॉगर मे Table Of Content कैसे ऐड करे ?

WordPress.Com और WordPress.Org मे क्या अंतर है?

Successful Blogger Kaise Bane | सक्सेसफूल ब्लॉगर कैसे बने

गेस्ट पोस्ट क्या है | Guest Post Kya Hai?

Conclusions Of Web Hosting Kya Hai?

दोस्तों आशा करता हूँ की आपका पता चल गया होगा की वेब होस्टिंग क्या है ( Web Hosting Kya Hai ) या About Hosting In Hindi, ताकि आपको किसी तरह के कोई दिक्कत न हो अगर आप एक वेबसाईट बनाने जा रहे है तो और एक बढ़िया होस्टिंग आप पसंद करके खरीद ले जो की आपको फायदे के सौदा हो ।

2 thoughts on “वेब होस्टिंग क्या है? यह कैसे काम करता है? (What is Web Hosting in Hindi)”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *