Java Language Kya Hota Hai? : क्या आपको भी जानना है की जावा क्या होता है और ये इसका इतिहास क्या है तो आप बिल्कुल सही जगह आए है जहां पर मैं आपलोग को एकदम साधारण भाषा मे बताऊँगा की What Is Java In Hindi?.

Java Language Kya Hota Hai?

अगर आप कोई वोकैशनल कोर्स कर रहे है तो आपको इसको बारे मे जानना रहता है और साथ ही जब आप इंजीनियरिंग की पढ़ाई करते है तब उसमे भी ये पढ़ना होता है और उसके बाद ही आप इसमे माहिर हो सकते है और आज हम इसके बारे मे पूरे डीटेल मे जानेंगे ।

जावा लैंग्वेज के द्वारा ही सॉफ्टवेयर ये सब बनाया जाता है चाहे वो कंप्युटर के लिए हो या फिर मोबाईल के एंड्रॉयड के लिए हो तो चलिए अब जानते है इसका पूरा जानकारी लेते है और Java Programming Kya Hai? के बारे मे बात करते है ।

Java Language Kya Hota Hai?

Java एक Object-Oriented Programming Language ( OOPS ) है, जो की Platform Independent है जिसको Sun Microsystem ने 1991 मे United State मे बनाया था जिसको Consumer Electronics जैसे की TV, VCR, आदि सॉफ्टवेयर बनाने के लिए Develop किया गया था ।

जावा मे सबसे ज्यादा खास बात ये है की ये किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम मे काम कर सकते है या फिर इसको किसी एक हार्डवेयर की जरूरत नहीं है की जावा तभी काम करेगा जब यह हार्डवेयर रहेगा या फिर तभी काम करेगा जब ये ऑपरेटिंग सिस्टम रहेगा ।

History Of Java In Hindi – जावा का इतिहास

ये एक Distributed Technology है जिसको James Gosiling और Sun Microsystem के द्वारा बनाया गया था, सन 1990 मे जावा का नाम OAK ( पौधा का नाम ) था और उसके बाद सन 1995 मे जावा एक बार फिर से Revised किया गया और इस बार उसका नाम जावा रखा गया और इसका साइन कॉफीसीड था ।

 Types Of Java In Hindi – जावा के प्रकार

जावा तीन प्रकार के होता है और जो की इस प्रकार है –

J2SE ( Java 2 Standard Edition ) – इस जावा का उपयोग Client Side Application या Program के लिए किया जाता है ।

J2EE ( Java 3 Enterprise Edition ) – इस जावा का उपयोग Server Side Application या Program बनाने के लिए किया जाता है ।

J2ME ( Java 2 Mobile Edition ) – इस जावा का उपयोग Mobile Side Application या Program के लिए किया जाता है ।

Features Of Java In Hindi  – जावा के फीचर

जावा का बहुत सारा फीचर है जो की निम्नलिखित है ।

Simple

जावा इसलिए सिम्पल था क्योंकि इसमे Pointer का कोई Concept नहीं था जिसका मतलब ये है की इसमे हमे ज्यादा समय नहीं लगता था अगर एक प्रोग्राम को Execute करना हो तब और साथ ही इसमे API ( Application Protocol Interface ) available था जिसमे किसी भी तरह के सॉफ्टवेयर को डिवेलप किया जा सकता है ।

जावा मे यूजर फ़्रेंडली Syntax होता है जिसमे जावा ऐप्लकैशन को बनाने मे आसानी होता है ।

Platform Independent

जावा Platform Independent इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसमे जावा प्रोग्राम को बनाने और Execute करने के लिए किसी एक ऑपरेटिंग सिस्टम का नीड़ नही होता है मतलब की ये सभी ऑपरेटिंग सिस्टम मे काम करता है ।
जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मे कॉमन डाटा टाइप और कॉमन मेमोरी स्पेस होता है सभी ऑपरेटिंग सिस्टम मे इसलिए इसे प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट कहा जाता है ।

Architectural Neutral

जावा लैंग्वेज सभी प्रोसेसर पर काम करता है जो की अभी के युग मे Available है, मतलब की अभी के युग मे जो भी प्रोसेसर है उसमे जावा लैंग्वेज का प्रोग्राम रन कर सकता है या फिर Execute हो सकता है ।

Portable

जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ही एक ऐसा लैंग्वेज है जो की सभी ऑपरेटिंग सिस्टम और सभी प्रोसेसर पर अपना प्रोग्राम को रन कर सकता है या फिर प्रोग्राम को Execute कर सकता है इसलिए जावा लैंग्वेज को पोर्टेबल कहा जाता है ।

Distributed

इसका मतलब ये है की मान लीजिए आप किसी प्रोग्राम पर काम कर रहे है तो आप उसको एक सर्वर पर अपलोड करके रख सकते है और आपके सर्वर से कनेक्ट  किसी भी कंप्युटर से उस फाइल को access कर सकते है और उसमे कुछ सुधार कर सकते है ।
                                                                                     अगर आप Distributed Application के लिए काम करना चाहते है तो आपका Architecture को trusted network architecture चाहिए होगा तभी आप किसी भी कंप्युटर से आप उस प्रोग्राम को एक्सेस कर पाएंगे और उसमे सुधार कर पाएंगे ।

Network

जैसा कि आप सभी जानते हैं नेटवर्क दो तरह का होता है, – 1. Trusted Network तथा 2. Untrusted Network ।
1. Trusted Network – ट्रस्टेड नेटवर्क वह होता है जिसमें सभी कंप्यूटर एक दूसरे से ऑटोनॉमस आर्किटेक्चर के द्वारा कनेक्टेड होते हैं और इसको WAN ( Wide Area Network ) भी कहा जाता है.

2. Untrusted Network – अनट्रस्टेड नेटवर्क वह होता है जिसमें सभी कंप्यूटर एक दूसरे से नॉनऑटोनॉमस आर्किटेक्चर के द्वारा कनेक्टेड होते हैं और इसको LAN ( Local Area Network ) भी कहा जाता है.

Robust

जावा अपने सारे एरर कोड को रन टाइम और कम्पाइल टाइम मे चेक करता है मतलब की अगर आप कोई एक प्रोग्राम बनाए है तो उसमे क्या क्या गलती हुआ है वो जावा रन टाइम और कम्पाइल टाइम मे चेक करता है और अगर Miss Handle Execution होता है किसी भी Garbage Collector और Exception Handling के द्वारा तो उसको रोबस्ट कहा जाता है ।

Dynamic

यह एक Binding और Appropiate Machanism है डिराइव क्लास का जो की Inharite होता है Base Class Object से Base क्लास का ।

Secure

जब भी बात सिक्युर की होती है तो उसमे सबसे ऊपर जावा ही रहता है क्योंकि इसमे Java Secure Feature के मदद से वायरस फ्री  जावा प्रोग्राम बनता है, जावा प्रोग्राम हमेशा रन टाइम environment मे ही रन करता है इसलिए ये हमेशा सिक्युर होता है ।

High Performance

जावा एक Interpreted Language है इसलिए ये इतना फास्ट नहीं है जितना की कम्पाइल लैंग्वेज जैसे की C और C++ लेकिन जावा रन टाइम कम्पाइल मे बहुत ज्यादा फास्ट Performance देता है ।

High Interpreted

इसका मतलब है की जावा एक Interpreted Language है क्योंकि इसमे बिट कोड होता है और जो की सिम्पल होता है इसलिए जावा Highly Interpreted होता है ।

Data Types In Java In Hindi

जावा का डाटा टाइप तीन प्रकार के होते है ।

1. Fundamental Data Type.
2. Derive Data Type.
3. User Define Data Type.

1. Fundamental Data Type

ये डाटा टाइप को लैंग्वेज वेन्डोर के द्वारा Develop किया गया है । इस डाटा टाइप मे सिर्फ और सिर्फ एक वैल्यू को ही स्टोर कर सकते है न की Multiple वैल्यू को स्टोर कर सकते है।

EX-

Int a;
a=10; ( Valid )
a= 10, 20, 30; ( Invalid )

जावा प्रोग्रामिंग मे Fundamental Data Type 8 प्रकार के होते है जिसको 4 भागों मे categorised किया गया है ।

 

  1. Integer Category Data Type
  2. Float Category Data Type
  3. Character Category Data Type
  4. Boolean Category Data Type

A. Integer Category Data Type – इस डाटा टाइप मे हम सिर्फ नंबर को ही कंप्युटर के मेमोरी मे स्टोर कर सकते है । इन्टिजर केटेगरी 4 टाइप का डाटा टाइप को स्टोर कर सकता है जो की नीचे दिखाया गया है ।

Data Type
Range (Byte)
Size
Byte
1
+127 to -128
Short
2
+32767 to -32768
Int
4
+X to –(Y+1)
long
8
+Y to –(y+1)

B. Float Category Data Type –  इस डाटा टाइप मे हम नंबर के साथ साथ दशमलव के फोरम मे  कंप्युटर के मेमोरी मे स्टोर कर सकते है । इन्टिजर केटेगरी 4 टाइप का डाटा टाइप को स्टोर कर सकता है जो की नीचे दिखाया गया है ।

इसमे 2 तरह के डाटा टाइप होता है जो की नीचे दिखाया गया है ।

Data Type
Range
Size
Number Of Decimal Place
Float
4
+X to –(x+1)
7
Double
8
+Y to –(y+1)
15

C. Character Category Data Type – अगर हम किसी भी Single Code को Bracket मे लिखते है तो उसको Identifier कहते है और अगर वही पूरा Word को Bracket मे लिखा जाता है तो उसको String कहा जाता है ।

जैसे –

Identifier – ‘ A ‘
String = ‘ Manish ‘

और अगर जावा के किसी प्रोग्राम मे मेमोरी मे Charecter को Store करने के लिए पहले मे आपको Char लिखना पड़ेगा तभी Charecter को स्टोर करेगा ।

D. Boolean Category Data Type – ये डाटा टाइप को सिर्फ और सिर्फ Logical Value को Store करने के लिए किया जाता है जैसे की True – False ये सब Logical Value कहलाता है ।

जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मे Logical Value से Deal करने के लिए Logical वैल्यू का उपयोग किया जाता है ।

2. Derive Data Type

इस डाटा टाइप मे आप Multiple Value को Add कर सकते है और उसको Store कर सकते है लेकिन इसमे एक ये कन्डिशन है की दोनों Value का एक ही Type का होना चाहिए ।

मतलब की अगर आप Float मे Add करना चाहते है तो सभी Value फ्लोट मे ही लिखा हुआ होना चाहिए और जब आप नंबर लेते है तो सभी वैल्यू नंबर ही होना चाहिए ।
जैसे की –

Int a{} = { 10,20,30 } – Valid
Int a{} = { 10, 10.2, A } – Invalid

3. User Define Data Type

इस डाटा मे आप किसी भी तरह के वैल्यू को स्टोर कर सकते है मतलब की अगर आप चाहो तो फ्लोट, नंबर और स्ट्रिंग सब एक मे ही स्टोर कर सकते है और उसपर प्रोग्राम बना सकते है इसलिए इसको User Define Data Type कहते है ।

जैसे की –

Int a{} = { 10, 10.2, A } – valid

Also Read- 

Computer Me Hardware Aur Software Kya Hai ? – HindiMeMaster

Processor Kya Hai Aur Iska Kaam Kya Hai? – HindiMeMaster

What Is IP Address In Hindi – HindiMeMaster

Conclusions 

दोस्तों आशा करता हूँ की आपको अभी पता चल गया होगा की Java Language In Hindi और Java Data Types In Hindi जिसके बारे मे आपको पूरा बढ़िया से समझा दिया गया है और इसी के जैसे ही सब ज्ञान आपको इस वेबसाईट पर मिलता रहेगा ।

 


1 Comment

C Programming Language Kya Hota Hai Aur Kaise Sikhe ? – HindiMEMaster – Hindi Me Master – Blogging, SEO, YouTube, Tech Tips · September 15, 2020 at 7:22 am

[…] Also –   Java Language Kya Hota Hai? – हिन्दी मे मास्टर  Wi-Fi Kya Hai Aur Iska Use Kyon Hota Hai? – HindiMeMaster PAN Card Kya Hota Hai? – […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »